BREAKING NEWS

Politics (राजनीति)

Sports (खेल-खिलाड़ी)

Entertainment (मनोरंजन)

Wednesday, 26 July 2017

आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के आवास के बाहर हंगामा राजद कार्यकर्ताओं में गुस्सा देखने को मिल रहा है.....


प्रवीण कुमार ब्यूरो पटना:
अभी अभी नीतीश कुमार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे देने के बाद से बिहार की सियासत में भूचाल आ गया है. एक तरफ जहां पॉलिटिकल कॉरिडोर में हलचल तेज है. खूब बयानबाजियां हो रही हैं तो वहीं आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद के आवास के बाहर हंगामा देखने को मिल रहा है. राजद कार्यकर्ताओं में गुस्सा देखने को मिल रहा है.राजद कार्यकर्ताओं ने पटना के दस सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी आवास के बाहर खूब प्रदर्शन किया है. खूब नारेबाजी हो रही है. कार्यकर्ताओं में साफ तौर पर गुस्सा देखने को मिल रहा है.बता दें कि नीतीश कुमार ने बिहार के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने राज्य के प्रभारी राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी से मुलाकात कर इस्तीफ़ा सौंपा है.राज्यपाल से मुलाकात करने के बाद नीतीश कुमार ने मीडिया से कहा, “मौजूदा माहौल में मेरे लिए नेतृत्व करना मुश्किल हो गया है. अंतरात्मा की आवाज़ पर कोई रास्ता नहीं निकलता देखकर ख़ुद ही नमस्कार कह दिया. अपने आप को अलग किया.”नीतीश कुमार ने ये भी बताया कि उनके इस्तीफ़े को राज्यपाल ने मंज़ूर कर लिया है और अगली व्यवस्था तक उन्हें कार्यभार संभालने को कहा है. उधर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीतीश कुमार को इस्तीफ़ा देने पर बधाई दी है.नीतीश ने यह क़दम लालू प्रसाद के बेटे और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव पर सीबीआई की तरफ़ एफआईआऱ दर्ज किए जाने के बाद उठाया. नीतीश कुमार ने कहा कि उन्होंने तेजस्वी से इस्तीफ़ा नहीं मांगा था, लेकिन चीज़ों पर उस पक्ष की ओर से सफ़ाई भी नहीं दी गई.



नीतीश कुमार का फैसला एक सराहनीय कदम:- मांझी



प्रवीण कुमार ब्यूरो पटना:
हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (से0) के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने कहा की नीतीश कुमार ने उच्च नैतिकता  को दिखाते हुए मुख्यमंत्री पद से त्यागपत्र दिया | इसलिए हम उन्हें धन्यवाद देते हैं | त्यागपत्र विलम से ही हुआ पर दुरुस्त हुआ है |
श्री मांझी ने कहा की NDA को आगे बिहार को मध्यावधि चुनाव में जाने से रोकना चाहिए | इसके लिए NDA को नीतीश कुमार का समर्थन करना चाहिए | समर्थन सरकार में रहकर भी या बाहर रह कर किया जा सकता है |



नीतीश कुमार के इस्तीफे के बाद लालू प्रसाद यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बड़ा खुलासा किया है......




प्रवीण कुमार ब्यूरो पटना:



नीतीश कुमार के इस्तीफे के बाद लालू प्रसाद यादव ने बड़ा खुलासा किया है. नीतीश कुमार पर खुद मर्डर, आर्म्स एक्ट का केस दर्ज है.लालू यादव ने बताया कि नीतीश कुमार पर धारा 302, 307 के तहत केस दर्ज है. नीतीश कुमार ने कहा कि मिट्टी में मिल जाएंगे बीजेपी से हाथ नहीं मिलायेंगे, नीतीश ने संघमुक्त भारत की बात कही थी. नीतीश कुमार ने फर्जी गा्रउंड पर इस्तीफा दिया, पब्लिक डोमेन में हम सफाई रखेंगे, भ्रष्ट्राचार से बड़ा है अत्याचार…नीतीश पर संज्ञान हो चूका है. नीतीश बोले थे संघमुक्त भारत बनाएंगे नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव पर सफाई मांगी थी पर हमने कहा जेडीयू पुलिस थाना नहीं है. उन्होंने कहा नीतीश कुमार पर हत्या का आरोप लगा है, उन पर धारा 302, 307 के तहत केस है,नीतीश कुमार मिले है RSS-BJP से पीएम ने ट्वीट कर नीतीश को बधाई दी.नीतीश कुमार ने आज बीजेपी के समर्थन लेने से इंकार नहीं किया है.इसका मतलब साफ़ है सब पहले से सेट है.लालू प्रसाद यादव ने कहा कि नीतीश के इस्तीफा से दुःख है. नीतीश को सब मालूम था. पंडारक थाने में नीतीश पर केस दर्ज हैं. बीजेपी से आपका सांठ गांठ हैं, आप सरकार बना सकते हैं. हमारी पार्टी बड़ी हैं. हमारा क्लैम बनता है. नया नेता मुख्यमंत्री चुनकर सरकार चलाईये. बड़ी पार्टी होने के नाते नेता चुनने का अधिकार राजद का है. नीतीश बिहार की जनता से धोखा कर रहे हैं. साम्प्रदायिक दलों के समर्थन कर रहे हैं नीतीश कुमार अपना कुर्ता साफ करने के लिए नीतिश कुमार ने इस्तीफा दिया.तेजस्वी की स्वीकार्यता पुरे भारत में हैं. नीतीश को पुराने केस को निकलने का डर था. बीजेपी को हराकर आये थे और बीजेपी को ही वोट किया गया. लालू से तो डरते थे अब तेजस्वी से भी डरने लगे. नीतीश के इस्तीफे पर मोदी के ट्वीट ने पूरा मामला बता दिया,बीजेपी को पहले से सब पता था,महागठबंधन हमने नहीं खत्म किया,सीएम ने सिर्फ दिया है इस्तीफा..तीनों दल के विधायक नया नेता चुन लें.
Attachments area



बड़ी खबर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस्तीफा दिया......



प्रवीण कुमार ब्यूरो पटना:

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस्तीफा दे दिया है. नीतीश कुमार ने राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी से मिलकर अपना इस्तीफा सौंप दिया है. यह भी खबर है कि फिर से चुनाव नहीं होगा यह भरोसा नीतीश कुमार ने अपने विधयाकों को दिया..हो सकता है फिर से सरकार बनाने की कोशिश हो. आपको बता दे हमने पहले कह दिया था कि आज फाइनल होने वाला है,बताया जा रहा है कि नीतीश कुमार ने पहले ही केसरी नाथ त्रिपाठी से मिलने का समय मांगा था. ऐसी भी ख़बर आ रही है कि राज्यपाल ने कल के सभी दुसरे राज्य में होने वाले प्रोग्राम को रद्द कर दिया हैं,इससे पहले राजद ने आज तेजस्वी का इस्तीफा देने से मना कर दिया है. राजद सुप्रीमों लालू प्रसाद यादव ने आज विधायक दल की बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने कभी भी इस्तीफा नहीं माँगा है. उन्होंने कहा कि हमने महागठबंधन बनाया है नीतीश को सीएम बनाया है. तेजस्वी की सफाई पर उन्होंने कहा कि जहाँ बोलना होगा वहां मै और तेजस्वी यादव बोलेंगे. उन्होंने जनता के बीच सफाई देने से इंकार किया. 5 साल के लिए हमने सरकार बनाई है. नीतीश कुमार को हमने मुख्यमंत्री बनाया है. लालू प्रसाद यादव ने साफ़ किया कि नीतीश कुमार ने इस्तीफा मांगा ही नहीं है. महागठबंधन के नेता है नीतीश कुमार. पांच साल के लिए महागठबंधन बना है. कहा कि गठबंधन में कोई दरार नहीं है. तो इस तरह राजद ने अपना रुख स्पष्ट कर दिया कि तेजस्वी यादव इस्तीफा नहीं देंगे.


अभी अभी राज्यपाल को इस्तीफा सौंपने के बाद नीतीश कुमार ने मीडिया को बताया क्यों दिया इस्तीफा….



प्रवीण कुमार ब्यूरो पटना:


अभी अभी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज बिहार के राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी को इस्तीफा सौंप दिया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि इस हालत में हम सरकार की हालत में नहीं थे इस लिए मेरे लिए इस्तीफा देना के अलावा कोई उपाय नहीं था. नीतीश कुमार ने कहा कि महागठबंधन सरकार को 20 माह तक चलाया है, हमने गठबंधन धर्म का पालन करते हुए काम किया है. हमने कभी किसी का इस्तीफा नहीं मांगा, मीडिया में कई तरह की खबरे आ रही थी कि इस्तीफा लेंगे या बर्खास्त करेंगे लेकिन हमने ऐसा कुछ भी नहीं कहा था. हमारी हमेशा से ही लालू प्रसाद यादव और राजद से संवाद होती रही हमने इस्तीफे से पहले भी लालू प्रसाद यादव से बातचीत किया और अपने फैसले से अवगत करा दिया था..तेजस्वी इस्तीफे के लिए तैयार नहीं थे, हमको जवाब देना मुश्किल हो रहा था पर लालू कुछ नहीं करना चाहते थे इसलिए इस्तीफा दे दिया. उन्होंने बताया कि इस्तीफा राज्यपाल केशरीनाथ त्रिपाठी ने मंजूर कर लिया है. तेजस्वी इस्तीफे के लिए तैयार नहीं थे, हमको जवाब देना मुश्किल था पर लालू कुछ नहीं करना चाहते थे. इस्तीफे के लिए नीतीश कुमार ने लालू यादव पर ठीकरा फोड़ा, लालू गठबंधन संकट के लिए खुद जिम्मेदार है. गठबंधन धर्म का पालन करने का पूरा प्रयास किया, काम कुछ भी करता, चर्चा सिर्फ एक ही बात की थी, अब माहौल काम करने लायक नहीं बचा था.
तेजस्वी के मुद्दे पर राहुल गांधी से भी बात की, राहुल और लालू गांधी तेजस्वी के साथ खड़े दिखे, अंतरात्मा की आवाज पर इस्तीफा दिया. हमने कभी किसी का इस्तीफा नहीं मांगा था, हमने आरोपियों पर सिर्फ सफाई की बात कही, इस माहौल में काम करना संभव नहीं था. गठबंधन धर्म का पालन करने का पूरा प्रयास किया, काम कुछ भी करता, चर्चा सिर्फ एक ही बात की थी, अब माहौल काम करने लायक नहीं बचा था.हमने कभी किसी का इस्तीफा नहीं मांगा था, हमने आरोपियों पर सिर्फ सफाई की बात कही, इस माहौल में काम करना संभव नहीं था. तेजस्वी के मुद्दे पर राहुल गांधी से भी बात की, राहुल और लालू गांधी तेजस्वी के साथ खड़े दिखे, अंतरात्मा की आवाज पर इस्तीफा दिया. गठबंधन धर्म का पालन करने का पूरा प्रयास किया, काम कुछ भी करता, चर्चा सिर्फ एक ही बात की थी, अब माहौल काम करने लायक नहीं बचा था. शाम 7 बजे BJP संसदीय बोर्ड में बिहार पर चर्चा होगी, नीतीश को समर्थन देने पर विचार करेगी बीजेपी.



मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस्तीफा दिया



सोनू मिश्रा की रिपोर्ट --
 
पटना – मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज इस्तीफा दे दिया। लोग उप उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के इस्तीफे का इंतज़ार कर रहे थे पर खुद मुख्यमंत्री ने इस्तीफा दे दिया। आज नीतीश कुमार राज्यपाल केसरी नाथ त्रिपाठी से मिले और अपना इस्तीफा सौंपा। राज्यपाल से मिलकर अपना इस्तीफा सौंपा। नीतीश का ये कदम बहुत आश्चर्यचकित नहीं करता।
 नीतीश अपने उसूलों से समझौता नहीं करने के लिए जाने जाते हैं। नीतीश ने अपनी चुप्पी इस कदम से तोड़ी है। पिछले 20 दिनों से बिहार राजनीतिक अनिश्चितता के दौर से गुज़र रहा था।
आज लालू यादव ने दो टूक कह दिया था कि तेजस्वी इस्तीफा नहीं देंगे। साथ ही नीतीश को भी उनकी हैसियत बातों ही बातों में जता दिया था, कहा था कि नीतीश को हमने मुख्यमंत्री बनाया है। अगर उनसे नहीं संभल रहा तो वे बताएं। नीतीश के 71 विधायक, बीजेपी के 53 विधायकों से मिलकर सरकार बचा सकते हैं। कांग्रेस के पास 27 विधायक हैं, लालू की पार्टी के पास सबसे ज्यादा 80 विधायक हैं। नीतीश ने पिछले दिनों दिल्ली में राहुल गांधी से मुलाकात की जिसका नतीज़ा सिफ़र रहा।
यह महागठबंधन के टूट की शुरुआत है। पटना में इस बीच बीजेपी के विधायक दल की बैठक चल रही है। वे इस नई परिस्थिति पर चर्चा करेंगे।



एसीबी की टीम ने रिनपास निदेशक नियुक्ति मामले में पूर्व स्वास्थ्य मंत्री राजेंद्र सिंह से घंटों पूछताछ की।




रांची।

बाद में राजेंद्र सिंह ने पत्रकारों को बताया कि वे
एसीबी कार्यालय पहुंचे,जहां रिनपास निदेशक अमूल रंजन समेत कई कर्मियों की नियुक्ति मामले की जांच कर रही एसीबी की टीम ने उनसे कई सवाल किये। बताया गया है कि एसीबी को यह जानकारी मिली है कि रिनपास में निदेशक से लेकर डॉक्टर और कई कर्मियों की नियुक्ति अवैध तरीके से हुई है और इसके पीछे वित्तीय अनियमितता से जुड़ा मामला है। बताया गया है कि रिनपास से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज भी गायब है।
एसीबी के सवालों का जवाब देकर बाहर निकले राजेंद्र सिंह ने अपने ऊपर लगे सभी आरोप को निराधार बताया है। उन्होंने बताया कि जो भी सच है, उसकी जानकारी एसीबी को दी है ओर अपना बयान दर्ज करा दिया है।
सूत्रों के मुताबिक एसीबी इस मामले में जल्द ही अन्य आरोपी पूर्व स्वास्थ्य मंत्री हेमलाल मुर्मू से भी पूछताछ करने की तैयारी है। बताया गया है कि एसीबी द्वारा इस मामले में विशेष अदालत में आरोप पत्र भी सौंप दिया जाएगा।
गौरतलब है कि रिनपास में नियुक्तियों में धांधली के मामले में पूर्व स्वास्थ्य मंत्री राजेंद्र सिंह, हेमलाल मुर्मू, पूर्व स्वास्थ्य सचिव बीके त्रिपाठी, पूर्व प्रभारी निदेशक रिनपास अमूल रंजन सिंह, डॉ.ए.के.नाग, डॉ. मनीषा किरण, डॉ. मशरुर जहां, डॉ. कप्तान सिंह सेंगर, डॉ. पवन कुमार सिंह, बलराम प्रसाद, डॉ. अनिल कुमार सहू, र्क्लक, दिवाकर सिंह क्लर्क, रंजन कुमार दास क्लर्क और सुरेंद्र कुमार रोहिला नर्स शामिल है।



मनरेगा में 50 लाख के योजनाओ का उद्घाटन किये समस्तीपुर विधायक:शाहीन


अमरदीप नारायण प्रसाद
ब्यूरो रिपोर्ट समस्तीपुर।
समस्तीपुर के रहीमपुर रूदौली पंचायत में मनरेगा योजना के अन्तर्गत करीब 50 लाख के योजना का उद्घाटन ।
समस्तीपुर के माननीय  विधायक सह प्रदेश प्रवक्ता अख्तरुल इस्लाम शाहीन जी ने किए ।
जिसमें समस्तीपुर डी डी सी अफजालुर रहमान की उपस्थिति में संपन्न हुआ साथ में उपस्थित BDO,CO समस्तीपुर,राजद जिलाध्यक्ष विनोद राय,पप्पू यादव,विशाल सम्राट,पूर्व मुखिया धर्मेंद्र राय,शिवशंकर राय,मोती सहनी,मो चुन्ने,कमलेश शर्मा आदि भी उपस्थित थे।
इस अवसर पर माननीय विधायक ने अपने संबोधन में कहा कि 15 दिनों के अंदर एक महत्वकांक्षी योजना मनरेगा भवन का शिलान्यास किया जाएगा जो रोज़गार के साथ साथ विकास के क्षेत्र में भी एक महत्वपूर्ण योजना होगी।



भाजपा ने पंडित दीन दयाल उपाध्याय के जन्म शताब्दी वर्ष मनाया गया।


अमसरदीप नारायण प्रसाद
ब्यूरो रिपोर्ट समस्तीपुर।


समस्तीपुर में  वारिसनगर प्रखंड के उत्तरी मंडल के रहुआ पूर्वी पंचायत में भाजपा पंचायत अध्यक्ष पिन्टू  के दरवाजे पर पण्डित दीन दयाल उपाध्याय जन्म शाताब्दी वर्ष "गरीब कल्याण वर्ष" के अवसर पर चौपाल सह संकल्प समारोह का आयोजन।
पंचायत अध्यक्ष श्री आदित्य कुमार पिंटू की अध्यक्षता में हुआ।
इस अवसर पर भाजपा के जिला अध्यक्ष श्री राम सुमरन सिंह जी ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि कार्यकर्ता बूथ स्तर तक जाकर सभी पंचायतो में जो केन्द्र की कल्याणकारी योजना को जनता के बीच रखें।
आज केंद्र सरकार श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में विश्व के मानचित्र पर भारत को मजबूती से रख रहें है, भारत की शक्ति से चीन घबराकर युद्ध की परिस्थिति पैदा कर रहा है, लेकिन भारत उससे डट के मुकाबले को तैयार है,
            पाकिस्तान को अमेरिका से सहयोग मिलना बन्द हो चुका है, और पाकिस्तान अब विश्व से अलग थलग पड़ चुका है ।
यह सब श्री नरेंद्र मोदी जी के कुशल विदेश नीति के कारण हो रहा है,
कार्यकर्म में जिला के निवर्तमान महामंत्री श्री राजेस्वर ठाकुर, जिला प्रबक्ता प्रभात कुमार, पूर्व जिला अध्यक्ष श्री अखिलेश्वर प्र0 सिंह, जनसंघ काल के रामाशीष जी, जिला मंत्री वीरेंद्र पासवान, मंडल अध्यक्ष श्री अर्जुन ठाकुर, राम कुमार राय, विजय सिंह, जय ठाकुर, शंकर ठाकुर, संभु पासवान, ललित राय, रजनीश कुमार, राजेश कुमार, अमरेश कुमार, इत्यादि रहे
कार्यक्रम के आरम्भ में दीप प्रज्वलन के बाद आये हुए अतिथि का माला, पाग एवं अंगवस्त्र से स्वागत किया गया।



दाता अलीजान साह के उर्स का आगाज,देश-प्रदेश के ओलमाऐ ला रहे हैं तसरीफ।


  कौनैन बसीर  (संवाददाता) उदाकिशुनगंज, मधेपुरा 

 मधेपुरा जिले के चौसा प्रखंड स्थित चन्दा गांव मे दाता अलीजान साह रह0 के मजार पर होने वाले एक दिवसीय उर्स मेलें को लेकर हर स्तरीय तैयारी पूरी कर ली गई है। एक दिवसीय इस मेले में हजारों की संख्या में  जायरिनों (श्रद्धालुओं) की भीड़ होने का अनुमान लगाया गया है। मजार पर चादरपोशी को लेकर कई राज्यों से भी जायरीन (श्रद्धालु) पुरे परिवार के साथ पहूंचते हैं। हलांकि वार्षिक उर्स के सफल संचालन को लेकर कई बैठकें भी हो चुकी है।
मुगलकाल में पहूंचे थे दाता अलीजान साह: 

 बताया जाता है कि मुगल काल में मोहब्बत साह बिहपुर शरीफ ने दाता अलीजान साह को चन्दा गांव में सादर पूर्वक शरण दिया था। जब दाता अलीजान साह  चन्दा गांव आये तो,आये दिन जरूरतमदों को उनकी दुआ से लाभ मिलने लगा और धीरे-धीरे लोगों की आस्था बढ़ी । कहा जाता है कि नवाब की पत्नी जब काफी बीमार हो गई थी तो उनका इलाज बाबा ने जड़ी-बूटियों से की। जब नवाब की पत्नी भला-चंगा हो गई तो उन्होनें बाबा को कही दुसरे जगह जाने से रोक दिया और आग्रह किया कि यहां के पारेशान लोगों को आपकी जरूरत है। नबाब के आग्रह पर दाता अलीजान साह रूक भी गए। दाता अलीजान साह को स्थायी जगह मिलने के बाद हर दिन उसके दरबार में बिमारियों, गरीबों, यतिमों, बेवाओं का मदद के लिए भीड़ लगने लगी । दाता सबके लिए अल्लाह से दुआ करते सबकी नेक मुराद पूरी होने लगी। इस तरह की धरनाओं से बाबा क्षेत्र में चर्चित हो गये। कहा जाता है कि गांव में भीषण गर्मी से किसानों का फसल सुखने लगा लोगों में हाहाकार मचने लगा कुछ लोग दाता के पास आये और बारिश होने की फरियाद की। तभी दाता अलीजान साह अल्लाह तालाह के आगे हाथ उठा कर दुआ माँगी कुछ देर बाद जोरदार बारिश होने लगी। ऐसे ही कई कारनामे दाता अलीजान साह के द्वारा देखने को मिला,कुछ दिनों बाद दाता पर्दा फरमा गये। पर्दा फरमाने के बाद भी उनके मजार पर श्रद्धालुओं का आना जाना लगा रहा।
77 वर्ष पूर्व बना मजार:
 स्थानीय लोगों सन 1950 ई0 में मुस्लिम के साथ हिन्दु समाज के लोग भी आगे आए और पीर दाता अलीजान साह  के मजार का निर्माण कराया। तबसे लगातार हर वर्ष दाता के मजार पर वार्षिक उर्स मेला का आयोजन होता आ रहा है। जो  उर्दू माह के एक जिल्कादा (26 जुलाई) को मनाया जाता है, उर्स मेला में दाता अलीजान साह के मजार दर्शन, चादरपोशी, दुआ, फातेहा के एवं जियारत के लिए देश-प्रदेश के विभिन्न जगहों से हजारों की संख्या में जायरीन पहुॅचते है। कहा जाता है कि दाता अलीजान साह के मजार पर जो भी जायरीन (श्रद्धालु) अपनी नेक मुराद लेकर आते है। उनकी मुराद पूरी होती है।  वही लगातार दाता अलीजान साह के प्रति बढ़ते आस्था के चलते अब हर दिन जायरीनों का ताता लगा रहता है।
उर्स के मौके पर दाता अलीजान साह की मजार की सजावट लगभग पुरी हो गई है। जगमगाती रोशनी से मजार जगमगा हो उठा है। बहुत ही खूबसूरती के साथ मजार को सजाया गया है। पंडाल बनाने का कार्य लगभग पूरा हो चला है। मजार पर आने वाले रास्ते को प्रकाशमय कर दिया गया है। इसी क्रम में बुधवार को जलसा मोहब्बतिया फरिदिया अलीजान साह कांफ्रेंस का आयोजन किया है। जिसमें देश-प्रदेश के ओलमाऐ कराम तसरीफ फरमा रहे हैं।



शोक सभा के आयोजन में मंत्री ने किया गहरी संवेदना व्यक्त।





 कौनैन बसीर (संवाददाता) उदाकिशुनगंज, मधेपुरा  




 जदयू श्रमिक प्रकोष्ठ के प्रखंड अध्यक्ष स्वर्गीय धनश्याम शर्मा के घर योगीराज गांव में मंगलवार को राज्य सरकार के पूर्व मंत्री सह क्षेत्रीय विधायक नरेन्द्र नारायण यादव एवं जनता दल यूनाइटेड परिवार के द्वारा शोक सभा का आयोजन किया गया।
शोक सभा प्रखंड जदयू युवा अध्यक्ष अमित कुमार की अध्यक्षता में की गई। शोक सभा में पहुंचे। पूर्व मंत्री सह विधायक नरेन्द्र नारायण यादव शोकाकुल परिजन से मिलकर उन्हें हर कदम पर सहयोग का भरोसा दिलाया।  श्री यादव ने पूर्व श्रमिक प्रकोष्ठ के प्रखंड अध्यक्ष धनश्याम शर्मा  के परिजन को ढाढ़स देते हुए कहा कि धनश्याम शर्मा मेरा सच्चा और ईमानदार कार्यकत्र्ता था। उसकी मृत्यु मेरे लिए भी एक अपूरणीय क्षति है। अपने समाज सेवा के भाव को लेकर हर वक्त समाजिक कार्याें की चर्चा करता था। अपने छोटे बड़े घरेलू अवसरों में शिरकत करने का आग्रह करता था और आज विडंबना यह है कि मैं उसके घर पर हूं और वह अब हमारे साथ नहीं है। इतना कहते हुए मंत्री भावुक हो गए। मंत्री ने जदयू नेता के परिजन को अपनी ओर से हर संभव सहायता का आश्वासन देते हुए कहा कि आपके श्री शर्मा को हम लौटा नहीं सकते हैं। लेकिन उसकी जिम्मेदारी को हम सब मिलकर जरूर निभाएंगे। वहीं खेल प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव आलोक राज ने श्री शर्मा के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि स्व0 धनश्याम बाबू हमलोगों के अभिभावक के साथ ही मार्गदर्शक भी थे। इनकी मौत हमसबों के लिए अपूर्णीय क्षति है। पार्टी के शुरूआती समय से ही वह हमलोगों के साथ थे।
इस मौके पर जल श्रमिक प्रकोष्ठ के जिलाध्यक्ष विनोद काम्बली विषाद,जदयू जिलाध्यक्ष प्रो0 विजेन्द्र नारायण यादव,जदयू प्रखंड अध्यक्ष शलैन्द्र कुमार यादव,जिला जदयू कोषाध्यक्ष सुरेन्द्र मेहता, मुखिया पवन के जिया,बब्लु यादव,आन्नद जैन,संजय कुमार सिंह,जदयू जिला उपाध्यक्ष सुजीत मेहता ,अशोक चौधरी,दयानंद शर्मा,तनूकलाल शर्मा, प्रेमचंद्र मंडल,राजेंद्र मेहता,चन्देशवरी मेहता,मोहम्मद जूबैर आलम,संजय कुमार ठाकुर,नरेश पासवान,डाॅक्टर पवन कुमार सिंह, सहित कई लोग मौजूद थे।



 
इण्डिया न्यूज लाइव मे लगे खबरों का सम्बध समाचार संवावदाताओ से है, सम्पादक का इन खबरो से सहमत हो जरूरी नही, समाचार संवावदाता स्ंवय जिम्मेदार है
Copyright © 2016, Indianewslive.net
Concept By mithilesh2020 | Designed By OddThemes & Customised By News Portal Solution